तीर्थ नगरी में कोरोना से बचाव के लिए चिकित्सक दंपति दे” योग का संदेश”

तीर्थ नगरी में कोरोना से बचाव के लिए चिकित्सक दंपति दे” योग का संदेश”

ऋषिकेश- योग के जरिए कोरोना ही नहीं तमाम घातक बीमारियों से बचा जा सकता है। कुछ यही संदेश तीर्थ नगरी ऋषिकेश में एक चिकित्सक दंपत्ति दे रहे हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं रेलवे स्टेशन स्थित प्रसाद हॉस्पिटल के संचालक दंपति डॉ हरिओम प्रसाद व उनकी पत्नी डा रितु प्रसाद की।

वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव की वैक्सीन भले ही अभी इजाद नहीं हो पाई है लेकिन दुनियाभर के तमाम विशेषज्ञ मानते हैं कि मजबूत इम्यूनिटी बेहतर खानपान और कोरोना से बचाव की तमाम गाइड लाइन का पालन करके इस वैश्विक महामारी से बचाव संभव है।इसके लिए योग आसन एक रामबाण उपाय हैं। नगर के विख्यात चिकित्सक आईएमए के अध्यक्ष डॉ हरिओम प्रसाद ने बताया कि योग से शरीर पूर्णतया स्वस्थ रहता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ ही श्वसन तंत्र भी मजबूत होता है। जाहिर है स्वस्थ शरीर में किसी भी तरह के संक्रमण का सवाल ही नहीं उठता। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का फिलहाल एकमात्र सर्वमान्य हल योगासन ही है। अपनी पत्नी रितु प्रसाद के साथ वर्षों से योगासन कर रहे डॉ हरिओम प्रसाद ने बताया कि प्रतिदिन नियमित तौर पर योगासन करने से शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं में वृद्धि होती है। इन्हीं की वजह से रोग से प्रतिरोधात्मक क्षमता बढ़ती है। जब हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है कि कोई वायरस या कीटाणु हमें संक्रमित नहीं कर पाता है। हमारे शरीर की रोगों से लड़ने वाली यह प्रणाली उसे स्वमेय खत्म कर देती है। इस तरह महज योग से हम कोरोना से लड़ाई जीत सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most view news

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: