स्वस्थ बच्चे, स्वस्थ भारत की नींव – स्वामी चिदानन्द सरस्वती

स्वस्थ बच्चे, स्वस्थ भारत की नींव – स्वामी चिदानन्द सरस्वती

ऋषिकेश- परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने राष्ट्रीय पोषण सप्ताह के अवसर पर ’स्वस्थ बचपन-समृद्ध भविष्य’ का संदेश देते हुये कहा कि ’स्वस्थ बच्चे, स्वस्थ भारत की नींव है’। बच्चों के उत्तम स्वास्थ्य का देश के विकास, उत्पादकता तथा आर्थिक उन्नति पर स्पष्ट प्रभाव पड़ता है।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि गुणवत्ता व पोषणयुक्त आहार, स्वच्छ जल, स्वच्छता और मौलिक जरूरतें प्राप्त करना न केवल वर्तमान पीढ़ी का अधिकार है, बल्कि यह भावी पीढ़ियों के अस्तित्व, स्वास्थ्य और विकास का भी मुद्दा है।

साध्वी भगवती सरस्वती ने कहा कि ’’स्वस्थ बचपन के लिये स्तनपान बहुत महत्वपूर्ण है। स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार जन्म के एक घंटे के भीतर स्तनपान कराए जाने से नवजात शिशुओं की मृत्यु में 20 प्रतिशत की कमी लाई जा सकती है। ऐसे नवजात शिशु जिन्हें माँ का दूध नहीं मिल पाता है, उनमें स्तनपान करने वाले बच्चों की तुलना में निमोनिया एवं पेचिश होने की संभावना क्रमशः 15 गुना और 11 गुना अधिक होती है। साथ ही स्तनपान नहीं करने वाले बच्चों में मधुमेह, मोटापा, एलर्जी, दमा, ल्यूकेमिया आदि होने का भी खतरा रहता है। उन्होंने कहा कि जन-सामान्य में सामान्य स्वास्थ्य संबंधी जानकारियों का अभाव होता है जिसके कारण वर्तमान समय में भारत के बच्चें में कुपोषण की समस्या काफी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: