कोविड-19 से बचाव के लिए सरकारी गाइडलाइन का पालन जरूरी

कोविड-19 से बचाव के लिए सरकारी गाइडलाइन का पालन जरूरी

ऋषिकेश- आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस से उपजी बीमारी कोविड-19 के प्रकोप से जूझ रही है। महामारी बन गई इस खतरनाक बीमारी का असर तीर्थ नगरी ऋषिकेश में भी बढ़ता ही जा रहा है। आने वाले दिन यह तय करेंगे कि यह महामारी यहां क्या रूप लेगी और यह बहुत कुछ इस पर निर्भर करेगा कि सरकार और उसकी संस्थाओं के साथ-साथ देश के आम और खास लोग कितनी तत्परता से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की कोशिश करते हैं।शहर के सामाजिक संगठनों से जुड़े युवाओं की बात करें तो प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग करने वाले मानते हैं कि इस खतरनाक बीमारी को रोकना हम सबकी जिम्मेदारी है। लायंस क्लब रॉयल के डिस्ट्रिक्ट चेयरपर्सन धीरज मखीजा का कहना है कि चूंकि इस खतरनाक बीमारी को रोकना हम सबकी जिम्मेदारी है इसलिए सभी को अतिरिक्त सावधानी का परिचय देना होगा और यह ध्यान रखना होगा कि कई बार सफलता टीम के सबसे अच्छे खिलाड़ी पर नहीं, बल्कि कमजोर खिलाड़ी के प्रदर्शन पर निर्भर करती है।

विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े युवा समाजसेवी निशांत मलिक ने कहा कि ऋषिकेश में जिस प्रकार तेजी से कोविड संक्रमण के मामले बड़ रहे हैं वो बेहद चिंताजनक है।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचे रहने के लिए एकजुटता, संयम और सहयोग बनाए रखना होगा।आज हम सबके सामने एक अलग किस्म की चुनौती आ खड़ी हुई है। यह एक कठिन चुनौती है और इसीलिए हालात मुश्किल भरे हैं। इन मुश्किल हालात में एकजुटता, संयम और अनुशासन के साथ सहयोग की भी परख होनी है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचे रहने के लिए जो अनेक कदम उठाए जा रहे हैं उनमें से एक है सोशल डिस्टेंसिंग। साधारण शब्दों में कहें तो एक व्यक्ति दूसरे से एक निश्चित दूरी बनाकर रखे और ऐसा करते समय सतर्क भी रहे। उन्होंने कहा कि जिन्हें यह संदेह है कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हैं, वे यदि अपने आप को एकांत यानी आइसोलेशन में रखें और मेल-जोल बंद कर दें तो परिवार और दोस्तों को बीमारी से बचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: