वन क्षेत्राधिकारी के सेवानिवृत्ति समारोह मे दी उन्हें भावभीनी विदाई

वन क्षेत्राधिकारी के सेवानिवृत्ति समारोह मे दी उन्हें भावभीनी विदाई

ऋषिकेश-देहरादून वन प्रभाग अन्तर्गत वन क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश आर पी एस नेगी वन विभाग में 35 साल छह दिन की सेवा स्वच्छ छवि और कर्मठता के साथ अपनी सेवाएं पूरा करते हुए सेवा निवृत्त होगये।सेवानिवृत्ति के अन्तिम कार्य दिवस तक भी वे अपने मातहत वनकर्मियों के साथ कार्य करते नजर आए।उनकी सेवा निवृत्ति के अवसर पर विभागीय कर्मियों ने सेवानिवृत्ति सम्मान समारोह का आयोजन किया।गौरकरने योग्य बात यह रही कि उपस्थित सभी अधिकारियों सहित स्वयं वन क्षेत्राधिकारी ने भी कोविड 19 गाईड लाइन का पालन करते हुए समारोह के समापन तक मास्क लगाए रखा।

इस अवसर पर विशेष रूप से आमन्त्रित ऋषिकेश स्मृतिवन संरक्षक और देहरादून वन प्रभाग नमामि गंगे जिला क्रियान्वन समिति के सदस्य पर्यावरणविद विनोद जुगलान विप्र ने कहा कि निवर्तमान वन क्षेत्राधिकारी आरपीएस नेगी ने अपने जीवन की शुरुआत बिजनौर स्थित वन विभाग की पौधशाला से 35 वर्ष पूर्व की थी।सरल व्यक्तित्व और अनुशासन प्रिय वनाधिकारी की छवि रखने वाले श्री नेगी न केवल अपनी लगनशीलता और ईमानदारी से विभाग में बेदाग सेवाकाल पूरा किया बल्कि साथ ही अपने लोकप्रिय जनसंपर्क से ग्रामीण किसानों और उच्चाधिकारियों के मध्य एक सुदृढ़ कड़ी की भूमिका निभाते हुए स्थानीय जनता को वन्यजीवों से होने वाले नुकसान से बचाने के सार्थक प्रयास किए।वर्तमान वनक्षेत्राधिकारी ऋषिकेश एमएस रावत ने कहा कि उनको ऋषिकेश आये अभी मात्र तीन माह का समय ही हुआ है ऐसे में अपने वन क्षेत्र अंतर्गत भू-क्षेत्र और विभागीय जानकारियां प्रदान करने में निवर्तमान वन क्षेत्राधिकारी आरपीएस नेगी जी का बड़ा महत्वपूर्ण योगदान रहा है।वन विभाग में उनकी सेवानिवृति के बाद भी उन्हें एक जानकार और अनुभवी अधिकारी के तौर पर याद रखा जाएगा।सेवानिवृत्ति समारोह के समापन से पूर्व श्री नेगी ने अपने कर्मियों को संदेश देते हुए कहा कि हर कर्मचारी की तैनाती के दिन से ही सेवा निवृत्त होने की तारीख भी निश्चित होती है।यह गर्व और सम्मान की बात है कि हर व्यक्ति चाहे वह कर्मचारी हो या अधिकारी यदि वह बेदाग छवि के साथ अपना सेवा काल पूरा करता है तो उससे अधिक हर्ष की बात और कुछ नहीं हो सकती।सभी को ईमानदारी के साथ कर्तव्य निष्ठ होकर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना चाहिए।इस अवसर पर पर्यावरणविद विनोद जुगलान एवं वनक्षेत्राधिकारी ऋषिकेश एम एस रावत ने उन्हें फलकंडी,खड़क माफ जिला पंचायत सदस्य संजीव चौहान और पंजाब एंड सिन्ध बैंक के पूर्व शाखा प्रबन्धक आर एस रावत ने फल गुच्छ और शॉल ओढ़ाकर कर सम्मानित किया,साथ ही वनाधिकारियों और वनकर्मियों एवं उपस्थित लोगों ने पुष्प गुच्छ, केक सहित उपहार भेंट किये।उनके सहकर्मियों ने उनका माल्यार्पण कर स्मृति पत्र भेंट किया।मौके पर वरिष्ठ पत्रकार अनिल शर्मा, मोतीचूर रेन्ज के वनक्षेत्राधिकारी एस एस नेगी,बड़कोट रेन्ज के वनक्षेत्राधिकारी केशर सिंह नेगी,प्रभागीय सर्वेयर विजेन्द्र पाण्डेय,नगर निगम पार्षद एडवोकेट राकेश सिंह मियाँ, जिला पँचायत सदस्य संजीव चौहान,आर एस रावत,वन दरोगा स्वयंम्बर कण्डवाल,व.द. रामपाल पाठक,मोहन लाल,लोकेंद्र नेगी,गोविन्द सिंह बिष्ट,वन बीट प्रभारी मनसा राम गौड़,युशूफ खान,देवेंद्र सिंह,शिवराजसिंह, कमल राजपूत,धनीराम बेलवाल,दिवान प्रतिमा पाठक,राजभर सिंहआदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।संचालन आरती बेलवाल ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: