गंगा का जलस्तर बढ़ा, बैराज ने छोड़ा पानी

गंगा का जलस्तर बढ़ा, बैराज ने छोड़ा पानी

ऋषिकेश-देवभूमि उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बारिश का असर योगनगरी के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में भी दिखाई देने लगा है।बीती रात गंगा का जल स्तर बढ़ने से वीरभद्र स्थित बैराज प्रशासन ने बढ़ते जलस्तर को देखते हुए सुरक्षा के दृष्टिगत अतिरिक्त जल की निकासी के लिए फाटक खोल दिया।जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्र के आसपास गंगा की जलधाराओं में तेज प्रवाह से पानी आ गया।

अचानक बढ़े जलस्तर के कारण ग्राम सभा खदरी खड़क माफ स्थित राजकीय पॉलिटेक्निक संस्थान के समीप वन विभाग द्वारा निर्मित सुरक्षा तटबन्ध तक पानी पहुँचने की सूचना है।जलस्तर की बृद्धि से पॉलिटेक्निक संस्थान की सुरक्षा को पँचायत द्वारा निर्माणाधीन सुरक्षा तटबन्ध का कार्य भी बाधित हो रहा है।जिला गंगा सुरक्षा समिति के सदस्य और संस्थान के पर्यावरण संरक्षक विनोद जुगलान विप्र ने बताया कि आगामी 16 जुलाई को हरेला पर्व के अवसर पर संस्थान सहित आसपास क्षेत्र की बाढ़ से सुरक्षा के दृष्टिकोण से नदी क्षेत्र के आसपास किनारे किनारे भूसंरक्षण प्रजाति के पौधों सहित घास के पौधे रोपित किये जाएँगे जिनमें वन विभाग अधिकारियों और वनकर्मियों सहित स्थानीय पर्यावरणप्रेमी और स्थानीय महिलाएं भी अपना सक्रिय भागीदारी निभाएंगे।इसके लिए लगातार तैयारियां की जा रही हैं।उन्होंने ग्रामीणों से अचानक हो रही जलस्तर बृद्धि के दृष्टिगत ग्रामीणों से नदी क्षेत्र में न जाने की अपील की है।गौरतलब है कि लॉक डाउन के कारण विद्यालयों में छुट्टियां हैं और स्कूल के विद्यार्थी गर्मी से निजात पाने को नदी की ओर चले जाते हैं जिससे दुर्घटना का खतरा बना रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: